शनिवार, 5 अगस्त 2017

Automatic water level controller


Walnut Innovations का  नया  वाटर लेवल कंट्रोलर

अगर आपके घर में आप नल का पानी टंकी में इकट्ठा कर के उसे ऊपर की टंकी में मोटर से चढाते हैं तो यह इलेक्ट्रॉनिक्स इंस्ट्रूमेंट आपके काम को बहुत ही सहज कर देगा.

मोटर से पानी भरने में हमें जो कठिनाइयाँ या दिक्कते आती हैं उसमे ओवरफ्लो प्रमुख है. आपने कई बार यह देखा होगा की ऊपर की टैंक भर के पानी बहने लगता है, और अगर आपको उसका पता नहीं लगा तो काफी पानी बह भी जाता है.


दूसरी दिक्कत इसमें यह आती है, अगर आप रेगुलरली किसी नियत समय पर मोटर शुरू न करते हों तो आपको ऊपर की टंकी में पानी ख़त्म होने पर ही इसका पता चलता है, और उस समय पानी का प्रेशर भी कम हो जाता है.

एक वाटर लेवल कंट्रोलर इन समस्याओं का हल दे सकता है.

Walnut Innovations जो की भारत की एक जानी मानी कंपनी है इंडस्ट्रियल और होम ऑटोमेशन और सिक्युरिटी के प्रोडक्ट्स बनाती है. वाटर लेवल कंट्रोलर walnutinnovations.com इस साईट पर और amazon.in जैसे शोपिंग साईट्स से खरीदे जा सकते हैं.

इन्होने हाल ही में एक नया एक वाटर लेवल कंट्रोलर बनाया है जो कुछ ही दिनों में लांच होगा. आज मैं आपको इसकी जानकारी दे रहा हूँ.

यह मोदी जी के मेक इन इंडिया द्वारा प्रेरित होकर बनाया हुआ इंडियन प्रोडक्ट है.  इस प्रोडक्ट के तीन वर्जन उन्होंने बनाये हैं जो इस प्रकार हैं.

Standard, VSP और 3Phase. 

Standard -  यह मॉडल सिंगल फेज मोनोब्लोक और ओपन वेल टाइप पम्प सेट के लिए उपयुक्त है. घरों में आम तौर पर इस तरह के मोटर / पम्प इस्तेमाल किये जाते हैं.

VSP - यह मॉडल सिंगल फेज व्हरटीकल सबमर्सिबल पम्प सेट (स्टार्टर वाले) के लिए उपयुक्त है
Three Phase - यह मॉडल सभी 3 फेज पम्प के लिए उपयुक्त है


मैंने अपने घर में स्टैण्डर्ड मॉडल इंस्टाल किया है. इस कंट्रोलर के साथ 6 वाटर लेवल सेंसर आते हैं. नीचे की टंकी के लिए तीन और ऊपर की टंकी के लिए तीन.

 इस कंट्रोलर में कनेक्शन के लिए जो पॉइंट्स हैं, उनपर जो नाम हैं वे ऊपर की टंकी के लिए (O) overhead tank और नीचे की टंकी के लिए (U) underground tank 



यहाँ पर आपको  OH, OL, C , C, UH, UL ये नाम दिखाई देते हैं. 

Upper Tank

OH -  (Overhead High) यह ऊपर की टंकी में सबसे ऊपर लगा हुआ सेंसर है
OL - (Overhead Low) यह ऊपर की टंकी में बीच में लगा हुआ सेंसर है
C - (Common) यह ऊपर की टंकी के तल में लगा हुआ सेंसर है 

Bottom Tank


UH -  (Underground High) यह नीचे की टंकी में सबसे ऊपर लगा हुआ सेंसर है
UL - (Underground Low)  यह नीचे की टंकी में बीच में लगा हुआ सेंसर है
C - (Common) यह नीचे की टंकी के तल में लगा हुआ सेंसर है
आपको ये सेंसर लगाने के लिए अपने टंकीयों की गहराई नापनी होगी. हम इन सेन्सर्स का काम समझ लेंगे.

कंट्रोलर मोटर को तब स्टार्ट करेगा जब ऊपर की टंकी में पानी OL सेंसर से नीचे चला जाएगा, और मोटर तब तक चलती रहेगी जब तक पानी का लेवल OH तक ना पहुँच जाए

तो हर बार जब मोटर शुरु होगी तो OL  से लेकर OH तक पानी एक बार में उपरी टंकी में पहुँचाया जाएगा. अप अपनी जरूरत के हिसाब से इन सेन्सर्स के बीच की दूरी काम या जादा कर सकते हैं

C वाला सेंसर यह कॉमन सेंसर कहलाता है, और इसे टंकी के तल तक पहुँचाना जरूरी होता है.

मोटर शुरू करने से पहले कंट्रोलर चेक करता है की क्या नीचे की टंकी में पर्याप्त मात्र में पानी है. इसके लिए UH सेंसर का इस्तेमाल किया जाता है. तो आपको UH सेंसर इतनी गहरे पर रखना होगा की वह नीचे की टंकी में म्युनिसिपल कारपोरेशन का पानी जमा होने पर पानी के नीचे आ जाये.

UL का जो सेंसर है वह मोटर के फूट वाल्व्ह के 2 इंच ऊपर रखना चाहिए, ताकी पानी का लेवल उससे नीचे जाने पर मोटर बंद की जा सके.

नीचे की टैंक इमें भी C वाला सेंसर कॉमन सेंसर कहलाता है, और इसे भी टंकी के तल तक पहुँचाना जरूरी होता है.

एक बार इन सेन्सर्स के काम की समझ आ जाने पर आप तय कर सकते हैं की हरेक सेंसर को जोड़ने के लिए कितनी लम्बी वायर की आपको जरूरत पड़ेगी.

सेन्सर्स को जोड़ने के लिए 2.5mm का सिंगल कोर वायर उपयुक्त होगा.इस तरह से आपको अलग अलग लम्बाई के तीन टुकड़े वायरों के तीन सेन्सर्स के लिए काटने होंगे

water level sensor


हरेक सेंसर के उपरी हिस्से में एक वायर के लिए छेद और स्क्रू होते हैं, जहाँ पर आप वायर के सिरे की फिक्स कर सकते हैं

तीन सेन्सर्स के वायर टंकी के बाहर किसी पाईप या किसी अन्य जगह पर टाई से बांध देना चाहिए ताकी एक बार सेन्सर्स को पानी में छोड़ने के बाद वे नीचे खिसक न जाएँ.

ऊपर की टंकी में सेन्सर्स बिठाते समय एक और चीज का ध्यान रखना जरूरी है और वह यह के की ऊपर की टंकी में जो पानी पहुँचता है वह सीधे सेन्सर्स के ऊपर ना पड़े, वरना टंकी भरने से पहले ही सेन्सर्स को लगेगा की टंकी भर गयी है 

टंकी में सेन्सर्स बिठाने के समय वायरों के दुसरे छोर पर OH,OL,C और UH,UL,C इस तरह से मार्किंग किया हुआ टेप चिपका लेना चाहिए ताकि इन वायरों को आगे केबल से जोड़ते समय आपको कनफ्यूजन ना हो.

सेन्सर्स के वायरों से लेकर कंट्रोलर तक हमें 0.75mm 3 कोर केबल की जरूरत पड़ेगी.
3 कोर केबल में लाल, हरा और काले रंग के वायर होते हैं. इन्हें हम इस प्रकार से कनेक्ट कर सकते हैं

लाल वायर - OH और UH
हरी वायर  - OL और  UL
काली वायर  - C 

3 कोर की केबल को ऊपर की और नीचे की टंकी से लेकर कंट्रोलर तक बिछाइए. 

कंट्रोलर के पिछले पैनल पर चार होल दिए हुए हैं. जिन्हें आप दिवार में चार होल ड्रिल करने के बाद , 1.5 इंच के स्क्रू  से फिट कर सकते हैं


कंट्रोलर फिट करने के बाद, अगर आपने 3 कोर केबल बिछा ली है तो उसे कनेक्ट कर सकते हैं.  कनेक्शन के लिए कंट्रोलर में OH, OL, C , C, UH, UL इस तरह से पॉइंट्स दिए हुए हैं.

ऊपर की और नीचे की टंकी के केबल जोड़ लेने के बाद आप इनपुट और आउटपुट के वायर जोड़ सकते हैं. यह करने से पहले आपने mcb या स्विच ऑफ किया है यह जाँच लीजिये, वरना आपको बिजली का झटका लगेगा. 

इसके बाद आपने स्विच ऑन किया तो अगर ऊपर की टंकी में पानी का लेवल कम हो और नीचे टंकी में पर्याप्त पानी हो तो मोटर शुरू हो जायेगी.

और ऊपर की टंकी में पानी का लेवल OH तक पहुँचने पर मोटर बंद हो जायेगी.

अगर आप नीचे की टंकी में सेंसर नहीं लगाना चाहते तो आप दो वायर के टुकड़े से  ये तीन पॉइंट्स UH से UL और UL से  C जोड़ दें. तब कंट्रोलर केवल ऊपर की टंकी में लगे हुए सेंसर से काम करेगा. कुछ लोगों के लिए यही सुविधाजनक हो सकता है, यानी आपके घर में पानी का नियमीत सप्लाय नहीं हो, पानी रोजाना एक लेवल तक नहीं आ पाता हो तो आप, नीचे की टंकी में सेंसर लगाये बिना काम चला सकते हो.

लेकिन तब आपको नीचे की टंकी में पानी ख़त्म होने से पहले मोटर को बंद करना होगा. इसके लिए आप कंट्रोलर पर दिए हुए काले रंग के बटन का इस्तेमाल कर सकते हो.

इस बटन को दबा कर आप मोटर को जब चाहे ऑन या फिर ऑफ़ कर सकते हो.

तो इस तरह से इस कंट्रोलर के काम को समझ कर आप इसका सही ढंग से इस्तेमाल कर सकते हो.